Sunday, April 15, 2018

Tomato Benefits n Side Effects         - टमाटर के फायदे और नुकसान)/ डॉ दीपा डॉ लाल थदानी

Tomato Benefits n Side Effects        
- टमाटर के फायदे और नुकसान)/
डॉ दीपा डॉ लाल थदानी

www.drlalthadani.in
Please Download n Share My App
Live Healthy (Dr.Lal)

टमाटर सर्वाधिक लोकप्रिय सब्जियों में से एक है.  टमाटर में पाए जाने वाले तमाम पोषक तत्वों को देखते हुए इसे पॉवरहाउस की संज्ञा भी दी जाती है. टमाटर में पाए जाने वाले पोषक तत्वों में विटामिन ए, बी-6, सी, के, और खनिज पदार्थों में मैग्नीशियम, तांबा, फोलेट, फास्फोरस और नियासिन मुख्य हैं. इसके अलावा भी टमाटर की अपनी विशेषताएं हैं. जैसे कि इसमें सोडियम, संतृप्त वसा, कोलेस्ट्राल और कैलोरी कम मात्रा में पाई जाती है. अब टमाटर से होने वाले फायदे और नुकसान को जानते हैं.

1. कैसर के उपचार में :

कैंसर जैसी गंभीर बिमारी के उपचार में टमाटर में पाया जाने वाला लाइकोपिन नामक एंटीऑक्सिडेंट काम आता है. इससे सभी प्रकार के कैंसर का खतरा कम होता है. कैंसर में टमाटर के बेहतर लाभ के लिए इसे जैतून के तेल में पकाकर इस्तेमाल करें.

2. अनिद्रा के उपचार में :

इसमें पाया जाने वाला लाईकोपीन नामक तत्व और विटामिन सी हमें बेहतर नींद दिलाने में काफी उपयोगी साबित होता है.

3. आँखों के लिए :

टमाटर में विटामिन सी, ल्यूटिन, लाइकोपिन, जेक्सैथीन, फाइटोकेमिकल्स एंटीऑक्सिडेंट भी पाए जाते हैं जो कि आँखों की विभिन्न समस्याओं के लिए काफी लाभदायक हैं.

4. त्वचा के लिए :

टमाटर में लाइकोपिन नाम का एक एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है जो कि हमारे त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाता है. इसके अलावा टमाटर के पेस्ट को चहरे पर लगाया जा सकता है. इससे त्वचा में चमक आती है.

5. वजन घटाने में :

टमाटर में वसा, कैलोरी और कोलेस्ट्राल काफी कम मात्रा में पाया जाता है जबकी पानी और फाइबर काफी मात्रा में पाया जाता है. कुल मिलकर टमाटर का नियमित सेवन पौष्टिक तत्वों की आपूर्ति तो करता ही है वजन भी घटाता है.

6. सूजन को दूर करने में :

टमाटर में बायो फ्लेवेनोइड्स और कैरोटिनॉइड की तरह ही एंटी इन्फ्लेमेटरी एजेंट्स मौजूद होते हैं. ये सूजन और जलन को कम करते हैं. कई बार टमाटर का प्रयोग छोटे स्तर पर पेन किलर की तरह भी किया जाता है.

7. हड्डियों के लिए :

टमाटर में हमारे हड्डियों के लिए भी आवश्यक तत्व पाए जाते हैं. इसमें पाए जाने वाले विटामिन के और कैल्शियम हड्डियों के लिए जरुरी है. इसके अलावा इसमें पाया जाने वाला लाइकोपिन नाम का एक एंटीऑक्सिडेंट भी पाया जाता है जो कि हड्डियों के द्रव्यमान को बेहतर करता है.

8. बालों के लिए :

टमाटर में मौजूद लोहा और विटामिन ए बालों के लिए काफी उपयोगी साबित होता है. बालों की विभिन्न समस्याओं जैसे रुसी, झड़ना, आदि के लिए टमाटर एक बेहतरीन खाद्य पदार्थ है. इसका रस भी बालों में लगा सकते हैं.

9. रक्तचाप को नियंत्रित करने में :

टमाटर में पाया जाने वाला पोटेशियम हमारे शरीर में रक्तचाप को नियंत्रित करने में मुख्य भूमिका निभाता है. इसके अलावा इसमें लाइकोपिन, विटामिन ए, सी, फाइबर और कैरोटिनॉइड भी पाया जाता है. जो कि ह्रदय रोग के जोखिमों को कम करते हैं.

10. शुगर में :

शुगर के मरीजों के लिए भी टमाटर काफी उपयोगी है. ये मधुमेह रोगियों के रक्त शर्करा स्तर को कम करता है. इसमें थोड़ी मात्रा में पाया जाने वाला कार्बोहाइड्रेट, मूत्र ग्लूकोज के स्तर को भी नियंत्रित करता है.

टमाटर के नुकसान :

इसमें पाए जाने वाले फाइटोकेमिकल की अधिक मात्रा हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करता है.

इसके बीज से पथरी की संभावना बढ़ सकती है.

लम्बे समय तक टमाटर का प्रयोग करने से त्वचा के रंग में भी परिवर्तन हो सकता है.

इसके सेवन से जठरांत्रों में विकार आ सकते हैं.

इसके प्रयोग से पुरुषों के लाइकोपिन ग्रंथि में विकार आ सकता है.

Friday, April 6, 2018

दुर्ग मामले में सोए लोग जाग उठे

#मधुकर कहिन
*अजमेर में राजनीति की भेंट चढ़ाई जा रही है सिंधी समाज की एकता* -
*दुर्ग में सिंधी युवकों के साथ पुलिस द्वारा अमानवीय व्यवहार को लेकर* *सिंधु सत्कार समिति के प्रदर्शन को हाई जैक करने हेतु देवनानी और कंवल प्रकाश दोनों हुए सक्रिय*

💥नरेश राघानी💥

सिंधी समाज से राजस्थान की राजनीति मैं चमत्कारिक व्यक्तित्व रखने वाले स्वर्गीय किशन मोटवानी द्वारा 34 वर्ष पुरानी सामाजिक संस्था सिंधु सत्कार समिति के आव्हान पर छत्तीसगढ़ दुर्ग में दो सिंधी युवकों के साथ छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा अमानवीय व्यवहार के विरोध में आंदोलन का आगाज बीते दिनों किया गया । जिसके तहत 10 अप्रैल को समस्त सिंधी समाज के छोटे बड़े सभी नेताओं और सदस्यों को समिति द्वारा सूचित किया गया कि वह भी इस आंदोलन में अपना अपना योगदान दें और एकजुट होकर 10 अप्रैल को जिला कलेक्टर को इस विषय पर ज्ञापन दें। जिस पर सभी सामाजिक संस्थाओं ने अपने अपने स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी थी । परंतु इसमें भी सिंधी समाज के भीतर भाजपा से जुड़े राजनीतिज्ञों की खींचतान खुल कर सामने आ गयी है ।जिसकी वजह से अब सभी सामाजिक संगठन अपने अपने स्तर पर जिला कलेक्टर को ज्ञापन देने का काम अंजाम ला रहे हैं । इसी कड़ी में देवदानी द्वारा समर्थित सिंधु संगीत समिति नहीं 6 अप्रैल को कमलप्रकाश समर्थित सिंधी 7 अप्रैल को और सिंधु सत्कार समिति द्वारा समस्त सामाजिक संगठनों से 10 अप्रैल को यह कार्यक्रम करने की अपील की है। परंतु सवाल यह है कि जब सिंधु सत्कार समिति ने सभी समाज के वर्ग के लोगों को इस कार्यक्रम हेतु पहले ही आमंत्रित कर लिया है तो *इस तरह से समाज की एकता को क्यूँ बट्टा लगाया जा रहा है ?*  *शायद सिंधु सत्कार समिति की इस पुनीत पहल की वजह से सिंधी समाज से जुड़े नेतागिरी करने वाले तत्वों को अपनी राजनीतिक जमीन हिलती हुई दिखाई देने लगी है। जिससे सभी ने सत्कार समिति की इस सोच पर चलते हुए अपनी अपनी खिचड़ी पकाना शुरू कर दिया है* । भाजपा नेता कमल प्रकाश और वासुदेव देवनानी की राजनीतिक प्रतिस्पर्धा शहर में किसी से छुपी नहीं है । दोनों ही भाजपा से अजमेर उत्तर का टिकट पाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार रहते हैं। इस पर एक सामाजिक संस्था के ऐसे आव्हान पर इन दोनों के बीच की प्रतिस्पर्धा खुलकर सामने आ गई जिसका यही संदेश आम लोगों में जा रहा है कि सिंधी समाज में दो भाजपा नेताओं के बीच टकराव की वजह से दो फाड़ है । वहीं तीसरा पक्ष  सिंधु सत्कार समिति के साथ पूरे समाज के केवल वही लोग जुड़े हैं जो सिर्फ समाज हित में अपना कार्य करने के इच्छुक दिखाई देते हैं। *समिति के इस आंदोलन को देवनानी और कंवल प्रकाश हाईजैक करके पता नहीं क्या साबित करने की कोशिश कर रहे हैं* । *जबकि दुर्ग में जहां यह घटना हुई है वहां भाजपा की ही  सरकार है , कंवल प्रकाश चाहे तो देवनानी से अनुरोध कर बिना इस सब तमाशे के केंद्र सरकार में देवनानी का राजनैतिक रसूख लगा कर खुद ही इस मुद्दे पर दुर्ग में बैठे पीड़ितों को राहत पहुंचाने का प्रयास कर सकते है । लेकिन नहीं साहब !!! ऐसा करने से इनकी नेतागिरी थोड़े ही चमकेगी , इन लोगों को तो टिकट की दौड़ में एक दूसरे से आगे निकलना है । समाज की एकता गयी भाड़ में* । यह सब देख कर सके बात तो तय है कि इन दोनों में से अगर किसी को भी भाजपा का टिकट मिल गया तो सिंधी समाज के भीतर इस आपसी फूट की वजह से उसका निपटना तय है। बात सिंधु सत्कार समिति की तो उस समिति के आदर्श स्व. किशन मोटवानी भले ही कांग्रेस पृष्ठभूमि के थे लेकिन इस समिति का वर्तमान प्रारूप बिल्कुल निष्पक्ष है जिसमें कांग्रेस भाजपा दोनों ही पार्टियों से जुड़े लोग शुमार हैं इसलिए इस पर किसी दल विशेष का कोई ठप्पा नहीं है।गौरतलब है कि कांग्रेस सांसद रिपुन बोरा द्वारा राष्ट्रगान में सिंध शब्द हटाने की मांग पर भी समिति ने रिपुन बोरा का  विरोध दर्ज करवाया है।
*खैर !!!! अब जो भी इस होड़ में आगे निकले लेकिन एक बात तो तय है कि इस सब से सिंधी समाज में जागृति तो आ रही है जिसका श्रेय निश्चित तौर पर राजनीति से परे हटकर काम कर रही सिंधु सत्कार समिति की प्रथम पहल को ही जायेगा* ।

जय श्री कृष्णा

नरेश राघानी
प्रधान संपादक
www.horizonhind.com
9829070307

Thursday, March 29, 2018

पुनर्गठित हुई 34 वर्ष पुरानी सिंधु सत्कार समिति* ।

#मधुकर कहिन
*सिंधी समाज की सेवा और संरक्षण हेतु पुनर्गठित हुई 34 वर्ष पुरानी सिंधु सत्कार समिति* ।
*स्व. किशन मोटवानी थे प्रथम प्रेरणा स्त्रोत और मुख्य संरक्षक*

💥नरेश राघानी💥

गत 34 वर्षों से अजमेर में सेवा कार्यों के कीर्तिमान स्थापित करने वाली सिंधी समाज की सिंधु सत्कार समिति का कल पुनर्गठन किया गया। *समिति के प्रथम संरक्षक और प्रेरणा स्त्रोत सिंधी समाज से राजस्थान सरकार में मंत्री रहे स्व. किशन मोटवानी थे।* जिनके देहांत के बाद समिति की कमान कई वरिष्ठ सिंधी समाज सेवकों के हाथ में रही है। जिसके अंतर्गत कई वर्षों से समाज का बुद्धिजीवी वर्ग इस संस्था से जुड़कर कीर्तिमान स्थापित करने वाले कार्यक्रम समाज हित में करता रहा है। नई पीढ़ी का सहवरण कर कल उसी समिति का विस्तार किया गया और *वरिष्ठ सदस्यों ने सर्वसम्मति से* *राजेश आनंद को अपना नया अध्यक्ष और रमेश टिलवानी को सचिव चुना है । समिति की महिला इकाई का गठन करते हुए अध्यक्ष अनिता शिवनानी और सचिव निशा जेसवानी को भी ज़िम्मेदारी दे दी गयी है* ।
*नए संरक्षक मंडल में समाज के वरिष्ठ आशकरण केसवानी, नारायण नागरानी  दीपक हासानी और होतचंद कन्नानी को शामिल किया गया है* । संस्था के कार्यविशेष के संचालन हेतु सिंधी समाज के सभी वर्गों से प्रतिनिधियों की *कोर कमेटी में संस्थापक अध्यक्ष डॉ लाल थदानी,मोहन चेलानी,हरीश खेमानी,नरेश राघानी , चन्दर बालानी और जोधा टेकचंदानी को शामिल किया गया है* ।
समिति के सदस्यों के अनुसार आगामी कार्ययोजना में प्रमुख 7 विषयों पर काम करने की मंशा समाज रखता है। जिसके तहत -
सिंधु केयर नंबर जो कि किसी भी वक़्त ज़रूरत पड़ने पर एक इमरजेंसी हेल्पलाइन की तरह काम करेगा जो कि किसी भी तरह की आपात परिस्थिति में किसी भी सिंधी बंधु द्वारा डायल करने पर आधे घंटे के भीतर डायल करने वाले के हितों का संरक्षण करने के लिए समाज के प्रतिनिधिमंडल की मौजूदगी सुनिश्चित करेगा।
स्वास्थ्य सहायक घर पर उपलब्ध करवाने हेतु नर्सिंग केयर सेवा , सिंधी भाषा और साहित्य को बढ़ावा देना, समाज की शैक्षणिक प्रतिभाओं को बढ़ावा देना, सिंधी मैरिज ब्यूरो , सिंधी सांस्कृतिक संध्या का प्रतिवर्ष आयोजन इत्यादि कई सेवा कार्यों का समावेश किया जाएगा।
इन सभी सेवा कार्यों हेतु नई टीम का गठन भी शीघ्र ही किया जाएगा। इस कार्यक्रम के दौरान सिंधु सत्कार समिति ने दीपक हासानी को राज. प्रदेश कांग्रेस कमेटी में सदस्य बनने पर बधाईयां प्रेषित की और इस बात के लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट का आभार भी व्यक्त किया।
*इस बैठक में चंद्र केसवानी,राजेश बसंतानी,ईश्वर टहिल्यानी,राजेश जुरानी, इंदर पिंजानी, राधेश्याम मंघानी,दयाल नावलानी,दिलीप हेमनानी,ओमप्रकाश उदासी आदि शामिल हुए* ।

नरेश राघानी
प्रधान संपादक
www.horizonhind.com
9829070307

Friday, September 22, 2017

शहीद प्रेम रामचंदानी : डॉ लाल थदानी

आज के दिन 1965 के भारत-पाक युद्ध मे,
मां भारती के वीर सपूत ,फ्लाइंग आफीसर
प्रेम रामचंदानी को पाकिस्तान मे घुसकर बम        
        गिराने का आदेश मिला।  18 से 22 सितम्बर तक इस वीर फाइटर पाइलट ने  नौ बार  पाक। मे घुसकर सफलतापूर्वक मिशन को पूरा किया। दसवें हमले मे पाक गोलीबारी से उनके क्राफ्ट मे आग लग गई,जिसके चलते यह वीर सैनिक बुरी तरह से झुलस गया।डाक्टरों के प्रयत्नों के बावजूद यह वीर सैनिक चार दिन बाद 26 सित. 1965 को शहीद हो गए । अन्तिम क्षणों  मे इस वीर अमर सैनिक के शब्द थे " मुझे अफसोस है कि अपने देश पर निच्छावर करने के लिए मेरे पास केवल एक जान है " उनके ये शब्द सेना के प्रसिद्ध क्योटस्  (अनुसरणीय शब्दो) मे शामिल है । इस वीर सैनिक पर सभी भारतीयों को, विशेषकर सिंधियो को बहुत गर्व है । मेरा निवेदन है कि, 26सितम्बर को इस वीर के शहादत दिवस पर, विधार्थियों को इस शहीद की जानकारी अवश्य दे।
          डॉ लाल थदानी, पूर्व अध्यक्ष
     राजस्थान सिंन्धी अकादमी , जयपुर ।

अफ़सोस आहे त असांजो सिंधी समाजु
जाँबाज़ फ़्लाइंग आफ़ीसर प्रेम रामचंदाणी जी 1965 जी जंग में ॾिनल शहादत नथो याद करे. भारत-पाकिस्तान जंग में  हीउ जाँबाज़ु आफ़ीसर दुश्मन ते हवाई हमला करे 26-9-1965 ते  शहीद थ्यो हो. 1971 जी भारत-पाकिस्तान जी जंग में एडमीरल टहिल्याणी भारतीय नौसेना जे विक्रांत जो महानायक हुओ, उन खां पोइ सिक्किम जो गवर्नर पुणु थ्यो; जहिंखे बि असांजो समाजु विसारे वेठो आहे!
जेका बेशुकरी कौम  पंहिंजा हीरा, सूरवीर विसारींदी आहे, पहिन्जी ॿोलीअ में न
ॻाल्हाइंदी आहे, उहा धीरे धीरे गुम थी
वेंदी आहे. मुहिंजी सिंधी समाज खे अपील
आहे त कौम खे बचायो ऐं पाण खे, पहिंजी सुञाणप (identity) खे, बचायो.
जय सिन्धियत. जय झूलेलाल

वेन्ती कंदड़ु: विंग कमांडर नंदलाल जोतवाणी, भारतीय वायु सेना (अवकाशप्राप्त)

http://thesindhuworld.com/prem-ramchandani-dev/

Sunday, June 16, 2013

Happy father's day papa!!

A little girl needs her daddy
To love her with manly charm,
To soothe her when she's hurt,
And keep her safe from harm.

A girl needs her dad
To show her a man who's good,
To help her make right choices,
As only a father could.

A woman needs her father
Just to be aware,
He'll always be there for her
To sustain her and to care.

You've been all these things, Dad.
hope u know hw much i treasure u..

Happy father's day papa!!
      NEHAL HIMANSHU

Monday, June 6, 2011

Aseen Sindhi Sadahin Gaddh(Always together): Sindh vase har Dil mein

Aseen Sindhi Sadahin Gaddh(Always together): Sindh vase har Dil mein: "Bhau PratabDas Gandhidham vasaye sage to ta cha aseen pahinjan sindhi santan khe chade............ Sindhi Darbarun ain mandira visaare......"

Sindh vase har Dil mein

Bhau PratabDas Gandhidham vasaye sage to
ta cha aseen pahinjan sindhi santan khe chade............
Sindhi Darbarun ain mandira visaare..........
sindhi boli ain sanskrit khe bachahe sagun tha..........
Sindhiyat ji shruhat khud Mukha hi thi sage thi......
Asaanje Dil mein Shaheed Hemu jo jajbo jagayo........
Sindh haasil kare lahinda seen.........
Khud ko kar buland itna ki 
har poloitical party ake puche gharan khe ticket dhyun